driving licence update:ड्राइविंग लाइंसेस बनवाने के नियम में आया बदलाव |


दोस्तों आज के समय में अगर आपको वाहन चलाना है | और फाइन से भी बचना है तो ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना बहुत ही जरुरी है | 

परिवहन मंत्रालय की और से नया अपडेट निकल के आया है जिसके तहत आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको RTO ऑफिस जाने की जरूरत नहीं है | अगर आपको बिना RTO ऑफिस जाये ड्राइविंग लाइंसेस बनवाना है | तो इसके लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग स्कूल से अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है आपको उसी स्कूल से टेस्ट को पास करना होगा और व्ही से एप्लिकेट जारी कर दिया जायेगा 


इसी सर्टिफिकेट के आधार पर आपका आधार कार्ड जारी कर दिया जायेगा | 

ड्राइविंग लाइंसेस बनवाने के नियम में आया बदलाव

  • जिस स्कूल से आप सर्टिफिकेट ले रहे हैं उस स्कूल के ट्रेनर कम से कम 12 कक्षा पास होना चाहिए और साथ ही उसे 5 साल का ड्राइविंग का अनुभव होना भी जरूरी है और उसे यातायात के नियमों के बारे में अच्छी तरीके से पता होना चाहिए| 
  • दो पहिया, तीन पहिया एवं हल्के मोटर वाहनों के लिए ट्रेनिंग सेंटर के पास कम से कम 1 या उससे अधिक एकड़ की जमीन होना आवश्यक है| 
  •  मध्यम और भारी वाहनों या टेलर के लिए सेंटर के पास कम से कम 2 एकड़ या उससे अधिक की जमीन होना अति आवश्यक है तभी वह ड्राइविंग लाइसेंस का ट्रेनिंग सेंटर चला सकता है
  • साथ ही परिवहन मंत्रालय के द्वारा एक और नियम भी बताया गया है हल्की मोटर वाहन चलाने के लिए शिक्षण पाठ्यक्रम में ट्रेनिंग स्कूल में चलाया जाएगा| 
  • ट्रेनिंग स्कूल में लोगों को बताया जाएगा बेबुनियाद सड़क, ग्रामीण सड़क, राजमार्ग ,शहर की सड़क इत्यादि पर गाड़ी चलाते समय सीखने में 21 घंटे खर्च करने होंगे| 
  • शिक्षण पाठ्यक्रम का समय 4 हफ्ते का होगा जो लगभग 29 घंटे तक चल सकता है इन ड्राइविंग सेंटर के पाठ्यक्रम को दो हिस्सों में बांटा जाएगा| 
  • विद्यालय में रोड शिष्टाचार को समझना रोडवेज प्राथमिक ,शिक्षा दुर्घटना के कारणों को समझना, प्राथमिक चिकित्सा और ड्राइविंग को समझना साथ ही यातायात नियमों का पालन करना इत्यादि को समझाया जाएगा

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post