12वीं की परीक्षा के बाद वकील कैसे बनें? |How to Become a Lawyer ?

 

12वीं की परीक्षा के बाद वकील कैसे बनें?|How to Become a Lawyer ?

अगर आपको  legal mysteries solve करना और दूसरों के राइट्स के लिए लड़ना अच्छा लगता है तो आप LOW  में अपना करियर बना सकते है

वकील property ,marriage or criminal जैसे कानूनी मुद्दों का समाधान कराते है। ऐसे में अगर आप एक वकील बनाना चाहते हैं तो आज का ये article आपके लिए है जिसमे आपको हम कक्षा 12 के बाद वकील बनने का तारिका बताने वाले हैं|

कक्षा 12 पास कर लेने के बाद अगर आप LOW फ़ील्ड को अपने करियार में सलेक्ट करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको LOW में डिगरी लेनी होगी जो 5 साल इंटीग्रेटेड (5years integrated) की डिगरी होगी अगर आप ग्रेजुयेसन के बाद LOW करना चाहते है तो आप 3 साल का LLB  कोर्स कर सकते है |

आज के इस आर्टिकल में हम integrated 5 years law course(एकीकृत 5 वर्षीय कानून पाठ्यक्रम) के जरिए लॉयर बनने का तरीका जानेंगे| इस 5 साल के प्रोग्राम में BA, BBA, B.Com जैसे ग्रेजुएट प्रोग्राम और एलएलबी डिग्री शामिल होते हैं| ऐसे ही कुछ कोर्सेस है BA LLB,  BA LLB (Hons.),   BLS LLB,   BBA LLB,   BBA LLB (Hons.),   B.Com LLB,    B.Com LLB (Hons.)  इन courses कि duration 5 साल होती है और आप क्लास 12th में ‘Science’ , ‘Commerce’ या ‘Arts’  stream से पास करने के बाद यह सारे कोर्सेस कर सकते हैं|

जबकि B.Sc. LLB ,   B.Sc. LLB (Hons.) करने के लिए आपको 12वीं क्लास Science stream से clear करनी होगी।

B.Tech LLB course के लिए आपको 12वीं क्लास Science stream से clear करनी होगी। और यह कोर्स 6 साल में complete  होगा।

5 years integrated LLB course की फीस में कॉलेज और कोर्स के according 30000 से 300000 का Expense देखा जा सकता है|


इस कोर्स में एडमिशन के लिए entrance exam देना होगा जैसे

CLAT - Common Law Admission Test

AILET - All India Law Entrance Test

LSET - Law School Admission Test

SET - Symbiosis Entrance Test

यहां पर आपको CLAT Exam ( Common Law Admission Test) की थोड़ी जानकारी लेनी चाहिए क्यो कि National level Entrance Exam के जरिए आप इंडिया की 21 National Law Universities कि UG&PG Law Courses में Admission ले सकते है CLAT( Common Law Admission Test) score को India के 50 से ज्यादा low Colleges or Universities भी accept  करते है।

ये exam साल में एक बार होता है एस exam के लिए आपको online application fill करना होगा और ये exam offline होता है। इस exam में appear होने के लिए कोई भी age limit नहीं है और आप कितनी भी बार ये exam दे सकते हैं। इस test के लिए आपके class 12th में 45%marks जरुरी है । जबकि SC/ST Category के लिए यह 40% है

इसे भी पढ़े - आईपीएस ऑफिसर कैसे बने? -How to Become IPS Officer.

India Leading Colleges जहा से आप integrated 5 years LAW Course को कर सकते है।

  • Symbiosis Law School (SLS) , Noida Uttar Pradesh
  • Guru Gobind Singh Indraprastha University ( GGSIP ) , Dwarka , Delhi
  • University of Petroleum & Energy Studies (UPES) , Dehradun, Uttarakhand
  • Jaipur National University (JNU)Jaipur, Rajasthan
  • Alliance University, Bangalore Karnataka
  • Amity University, Mumbai Maharashtra
  • Teerthanker Mahaveer University (TMU), Moradabad, Uttar Pradesh
  • Kalinga Institute of Industrial Technology (KIIT), Bhubaneswar, Odisha
  • National Law School of India University (NLSIU), Bangalore, Karnataka
  • Noida international University,(NIU) Greater Noida, Uttar Pradesh

डिग्री complete करने के बाद अब आगे study करना चाहे तो (LLM) यानी law में master कि degree ले सकते हैं। आप चाहे तो business Oriented Course जैसे- “M.B.A.”   “M.B.L. (Master of Business Law)” भी कर सकते हैं| इस तरह LLB या LLM करने के बाद आप Lawyer  बनने के लिए eligible हो पाएंगे |

जबकि LAW में Certificate या Diploma करके आप Lawyer नहीं बन सकते हैं Law Graduate होने के बाद आपको अगले स्टेप में बढ़ना होगा ।

आपको किसी सीनियर एडवोकेट के पास Law Firm में Internship करनी होगी। ये internship अपकी guideline के अनुसार होगा। जनरली internship की Duration 1 महीने की होती है|

इसे आप course के दौरान भी कर सकते हैं या फिर  course complete  होने के बाद भी ।

इसके बाद अगर आप इंडिया में Law कि practice करना चाहते हैं तो आपको (advocate) एडवोकेट बनना होगा। जिसके लिए अगले स्टेप में खुद को एक एडवोकेट के रूप में State Bar Council में Enroll करना होगा।

यहां पर आपको lawyer और Advocate के बीच Difference को समझना होगा।

हम आपको बता दें कि Advocate वह Person है। जो कोर्ट में केस लड़ता है और Bar Councill of India में Registered होता हैं। जबकि lawyer वह person हैं जो Businesses Firms & Companies को Legal Advice Provide कराता है लेकिन उनके केस को कोर्ट में present नहीं कर सकता। क्योंकि lawyer law में graduate तो होते हैं लेकिन Bar Councill of India मे Enroll नहीं होते।

अब आप समझ गए होंगे कि कोर्ट में केस लड़ने के लिए आपको एडवोकेट बनना होगा और इसके लिए Bar Councill of India में खुद को Enroll कराना होगा।

इस Registration process के बाद आपको ‘All India Bar Examination’ (AIBE) exam भी clear करना होगा तभी आपको Certificate of Practice मिलेगा। जिसके बाद आप कोर्ट में practice करने के लिए eligible हो पाएंगे| "AIBE" exam offline होता है जो कि साल में दो बार conduct किया जाता है।

‘Certificate of Practice’  मिलने के बाद आप बहोत से Sector में SA Lawyer या Advocate Work कर सकते है जैसे की

  1. Corporate Business
  2. multi National companies
  3. media &Entertainment Houses
  4. Engineering firms
  5. political parties
  6. finance Companies
  7. Consulting firms
  8. Collages & universities
  9. Law Common Specializations

‘Law Common Specializations’ के बारे में भी आपको पता होना चाहिए जैसे कि

Civil law

criminal law

 Tax law

Intellectual Property law

Corporate Law

Environment law

यानी कि आपके पास बहुत सारे job roles के option होंगे जैसे कि

  • Family lawyers
  • Security lawyers
  • Tax lawyer
  • Environment lawyer
  • Legal assistant
  • conciliator

जैसे job option भी मौजूद होंगे।

lawyer salary?

एक lawyer की average salary की बात करें तो 7 लाख 15 हजार प्रतिवर्ष होती हैं|

Top 7 legal firms जो law graduate  को hire करती हैं-

  1. Amarchand & Mangaldas & Suresh A Shroff & Co.  , With Its Headquarters in New Delhi & Mumbai
  2. AZB & Partners Also Has Its Headquarters In New Delhi And Mumbai
  3. Khaitan & CO Its Headquarter Is In Mumbai
  4. Luthra & Luthra Law Offices , Its Headquarter Is In New Delhi
  5. S & R Associates , Its Headquarter Is In New Delhi
  6. Economic Laws Practice , Its Headquarterls In Mumbai
  7. Desai & Diwanji ,Headquartered In Mumbai

इस तरह से आप क्लास 12th Clear करने के बाद Integrated Law Course कम्प्लीट करके, Internship करके, Bar Councill of India में खुद को Enroll करवाके ,AIBE exam clear कर के एडवोकेट बन सकते है |

हमें उम्मीद है की हम आपकी मदद करने में सफल रहे होंगे अगर आपके किसी भी फ्रैंड को इसकी जरूरत हो या फिर वो एडवोकेट बनाना चाहते है तो इस article को उन तक जरूर पहुंचाये ताकि उनकी कुछ मदद हो सके| अगर किसी भी प्रकार की इन्फोर्मेसन आपको चाइये तो आप कमेंट कर सकते है हमें आपकी सहायता कर के ख़ुशी होगी |

 

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post